WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आखिर किसान भारत को WTO से बाहर क्यों निकालना चाहते हैं, जानिए संपूर्ण जानकारी

वर्तमान में भारत में किसानों द्वारा किसान आंदोलन किया जा रहा है। इस आंदोलन में किसान की कुछ मांगे हैं जिनको पूरा करवाने के लिए किसान आंदोलन कर रहा है। इस किसान आंदोलन को भंग करने के लिए सरकार बहुत सारे प्रयास कर रही है।

आज के इस आर्टिकल में हम किसान की एक मांग के बारे में जानेंगे। आप इस मांग के बारे में जानकर कमेंट में जरूर बताइए यह मांग सही है या गलत।

ये दिल्ली में प्रोटेस्ट करने वाले किसान आखिर भारत को WTO यानि की World Trade Organization से बाहर क्यों निकालना चाहते हैं? 

साल 1955 में भारत WTO का संस्थापक सदस्य बना था। WTO के कुछ नियमों में ऐसा कहा गया है कि कोई भी देश अपने टोटल पॉड़क्शन का 10% ही किसानों को सबसीडी में दे सकता है. यानि अगर भारत ने एक साल में 1000 करोड रुपे का agriculture production किया तो उसमें से 100 करोड रुपे ही किसानों को subsidy में दे सकता है।

साथ ही WTO में शामिल कोई भी देश अपने यहाँ पर MSP तैक करने की कोई guarantee नहीं देगा। सरकार MSP का कानून बनाए जो सरकार कर नहीं सकती । इसी चक्कर में किसान भारत को WTO से बाहर निकालने की मांग कर रहा है 

आपको क्या लगता है कि ये मांग कितनी उचित है कुमेंट सेक्शन में जरूर लिखेगा ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment